Breaking

Tuesday, 2 June 2020

बाजारों में भारी भीड़ दे रही कोरोना को निमंत्रण




  • बाजारों में उमडा जन सैलाब दे रहा कोरोना को निमंत्रण।सु
  • बजे खुली सभी दुकानें, गाइडलाइन की धज्जियां उडी।
  • कई जगह से पुलिसकर्मी दिखे नदारद।
  • शहर में गन्ने का भीषण जाम चोथे दिन भी जारी रहा।

शामली। कोरोना महामारी को लेकर लाॅक डाउन में शासन के निर्देशों के बाद डीएम द्वारा जारी की गयी गाइडलाइन के पहले चरण में मंगलवार को बाजारों में सोशल डिस्टेंस की जमकर धज्जियां उड़ाई गई। सुबह 9 बजते ही शहर के बाजार खुल गए जहां खरीददारी को लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। बाजारों में लोगों की इतनी भीड़ रही कि जाम की स्थिति पैदा हो गयी। लोगों को निकलने की जगह तक नहीं मिल सकी, वाहन घंटों जाम में फंसे रहे, वहीं चैराहों पर तैनात किए गए पुलिसकर्मी भी नदारद दिखाई पड़े। दुकानों पर सोशल डिस्टेंस का भी कोई पालन नहीं किया गया, लोग खरीददारी के लिए दुकानों पर उमड़ पड़े। भीड का यह आलम कोरोना को बढावा देने का काम कर रहा है, यदि कोरोना संक्रमण फैल गया तो इसे संभालना बेहद मुश्किल हो जाएगा। 
जानकारी के अनुसार प्रदेश शासन द्वारा कोरोना महामारी को लेकर लागू किए गए लाॅक डाउन में छूट संबंधी दिशा निर्देश दिए गए हैं। शासन के निर्देशों के बाद सोमवार को डीएम जसजीत कौर द्वारा जिले में नई गाइडलाइन जारी कर दी गई जिसके अनुसार सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक जिले में सभी प्रकार की दुकानें खुलेंगी लेकिन रविवार को साप्ताहिक बंदी लागू रहेगी, इस दिन केवल दूध, दवा एवं सब्जी की दुकानें ही खुलेंगी। 8 जून से सभी धार्मिक स्थलों, पूजाघरों, होटल, रेस्टोरेंट को सोशल डिस्टेसिंग व फेस मास्क, ग्लब्स के साथ खोलने की अनुमति दी गयी है। इसके अलावा कई अन्य छूट भी प्रदान की गयी हैं लेकिन बाजारों की सभी दुकानों को खोलने की यह छूट लोगों पर भारी पड सकती है। मंगलवार की सुबह 9 बजे जैसे ही शहर के बाजार खुले, खरीदारी के लिए लोगों का हुजूम उमड पडा। शहर के सभी बाजारों में भीड का आलम यह रहा कि जाम की स्थिति पैदा हो गयी। दुकानों पर खरीदारी करने को लिए मारामारी सी मची रही, लोग बाइक, स्कूटी , कार आदि वाहन लेकर खरीददारी के लिए सडकों पर निकल पडे जिससे नगर के सभी मुख्य मार्गो पर भी भीषण जाम लग गया। लोगों को निकलने की जगह तक नहीं मिल पायी। जिसके चलते लोग घंटों जाम में फंसे रहे। वहीं बाजारों में तैनात किए गए पुलिसकर्मी भी मंगलवार को चैराहों व बाजारों से गायब नजर आए। जिससे स्थिति और ज्यादा विकट हो गयी। हालांकि एक-दो स्थानों फव्वारा चौक और विजय चौक व बाईपास पर इक्का-दुक्का पुलिसकर्मी चेकिंग करते दिखे लेकिन पहले जैसी सतर्कता नजर नहीं आई, वहीं बाजारों में भी पुलिस की गाडियां दिखी लेकिन पुलिस ने लोगों को समझाना भी मुनासिब नहीं समझा। अधिकतर दुकानों पर सोशल डिस्टेंस, फेस मास्क, ग्लब्स या सैनेटाइजर का प्रयोग नहीं किया गया जिससे जिले में कोरोना फैलने की संभावना बढ गयी है, यदि कोरोना फैल गया तो इसे संभालना बेहद मुश्किल हो जाएगा। दूसरी ओर मंगलवार को भी शहर में गन्नों के वाहनों की लंबी लाइन देखने को मिली। पिछले चार दिन गन्ने के जाम की स्थिति यथावत बनी हुई है जिस पर  जिला प्रशासन व  मिल प्रशासन की ओर से कोई ठोस कार्यवाही नहीं की गई है। जिसके चलते मिल रोड पर तो लोगो को चलने में भी कठिनाई पैदा हो रही है

No comments:

Post a comment