Breaking

Saturday, 6 June 2020

फॉरेंसिक टीम ने कैराना पहुंचकर मकान में रखे सामान के लिये नमूने


  • दो युवतियों की हत्या प्रकरण के मामले में पहुंची थी टीम 
  • पुलिस के पहुचने से पूर्व मकान के स्वामी परिजनों के साथ फरार

  
    कैराना, शामली(विशाल भटनागर)। शनिवार को कैराना में मेरठ व शामली से फोरेंसिक जांच टीम ने पहुचकर एक मकान को देखा, इतना ही नहीं टीम ने मकान के साथ साथ अंदर कमरों व बाथरूम आदि की गहराई से जाच की। मामला दो युवतियों की हत्या से जुड़ा बताया गया है।   बता दे की गत 20 मई को दो युवतियों का शव कैराना के गांव जगनपुर के पास पड़ा मिला था। जिसके बाद कैराना में पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया था। पुलिस की टीमें तभी से जाच पड़ताल में लगी हुई है। इसके अलावा स्वाट टीम व क्राइम ब्रांच की टीम ने भी कई स्थानों पर दबिश अभियान चलाया था। हालाकि पुलिस को इस मामले में अभी तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी थी। इसके अलावा दोनों युवतियों की हत्या के मामले में डॉग स्क्वायड का भी सहारा लिया गया था। लेकिन डॉग स्क्वायड की जांच भी घटना स्थल के पास जाकर रुक गयी। ओर पुलिस अंधेरे में ही तीर चलती रही। गत शुक्रवार को दोनों युवतियों की हत्या की जांच कैराना के देहात आर्यपुरी पर रुक गयी है। शनिवार को दोनों युवतियों की हत्या के मामले में मेरठ से फोरेंसिक टीम कैराना के देहात आर्यपुरी में एक मकान पर पहुची,टीम में 5 सदस्यों शामिल थे,जो जांच कर रहे थे। टीम में हत्या से जुड़े कई पहलुओं की सघन जांच की। अपराध विज्ञान प्रयोगशाला मेरठ 5 सदस्यीय जांच टीम में दो फ़िंगर स्पर्ट व एक जीव विज्ञान के विशेषज्ञ शामिल थे। जांच टीम में स्पर्ट  जयप्रकाश के नेतृत्व में  जांच टीम के सदस्यों ने मकान के अंदर कमरों व दीवारो, बाथरूम,आदि की जांच की। टीम में शामली के फ़िंगर एक्सपर्ट हरप्रीत भी शामिल थे। उधर बाद में टीम मकान के पीछे जंगल खेत को भी देखा,इतना ही नहीं टीम ने जाच के दौरान मकान में पड़ी कुर्सी मेज,चारपाई,आदि के भी सैम्पलिंग की। घन्टो चली जाच के बाद टीम वापस लौट गई।टीम के बाद स्वाट टीम ने भी जाच की। उधर कैराना सीओ प्रदीप कुमार सिंह व कोतवाली प्रभारी निरीक्षक यशपाल धामा पुलिस टीम के साथ गहराई से जांच करते नजर आए। पुलिस के अनुसार आर्यपुरी देहात में जिस मकान उनके अंदर टीम ने जाकर जांच की है,उस मकान के अंदर हत्या से जुड़े साबुत मिले का अनुमान लगाया गया है। हालांकि पुलिस घटना को लेकर कुछ भी बताने से इंकार कर रही है। इसके अलावा सीओ प्रदीप सिंह ने बताया कि मकान स्वामी एक मिष्ठान बनाने की फैक्ट्री चलाता है जब उससे लेबर की जानकारी की गई तो मकान स्वामी वे उसके भाई अन्य परिजन भी फरार हो गए। जिसकी जाच की जा रही है। हालांकि सूत्रों की माने तो पुलिस हत्या का खुलासा जल्द कर सकती है। उधर टीम के सदस्यों ने बताया कि जांच रिपोर्ट एसपी को सौंपी जाएगी। 
--------------------------------------

पुलिस के पहुचने से पूर्व मकान के स्वामी परिजनों के साथ फरार

कैराना। दो युवतियों की हत्या के मामले में स्थानीय पुलिस के साथ तीन टीमों ने मकान के अंदर जांच पड़ताल की। आखिर क्यों पहुची टीम मकान के अंदर,जब मकान स्वामी से पूछताछ करने का प्रयास किया तो मकान सवामी परिजनों के साथ ही फरार हो गए,घर को खुला छोड़कर, पुलिस का शक ओर तेज हो गया आखिर क्यों हुए फरार,यही से पुलिस की शक की सुई मकान पर टिक गयी, ।गत दिनों लगभग 20 मई को दो युवतियों के हत्या कर शव को फेंकने के बाद घटना स्थल की जांच ने ही प्रथम दिन ही पुलिस की सुई घटना स्थल लगभग एक से डेढ़ किलोमीटर के के अंदर ही होना बताई थी। तभी से पुलिस व स्पेशल टीम घटना स्थलों के पास से ही जाच कर रहे थे। पिछले दिनों उक्त मकान के पास जंगल की ओर सड़क पर भी पुलिस को एक खून का स्पॉट मिंलने से पुलिस की जाच ओर तेज हो गयी थी। अब देखना होगा की पुलिस की टीम घटना का कब तक खुलासा कर पाती है,ये तो आने वाला ही समय बताएगा।

No comments:

Post a comment