Breaking

Sunday, 7 June 2020

धार्मिक स्थलों को खोलने को लेकर डीएम ने ली धर्मगुरुओं की बैठक, गाइडलाइन के बारे में बताया

धार्मिक स्थलों को सैनेटाइज करने व थर्मल स्क्रीनिंग की करनी होगी व्यवस्था


 शामली। डीएम जसजीत कौर ने शासन की गाइडलाइन के अनुसार सभी धार्मिक स्थलों को खोलने से पूर्व सैनेटाइज करने, थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था करने व केवल पांच श्रद्धालुओं को ही मंदिर में प्रवेश देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस दौरान सोशल डिस्टेंस का भी पालन करना होगा तथा श्रद्धालुओं के खडे होने वाले स्थान पर गोल घेरे बनाने होंगे। इस दौरान रिकार्ड किए गए गाने बजाने की अनुमति होगी लेकिन समूह में एकत्र होकर गाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। वहीं मंदिरों में आने वाले लोग मास्क का भी प्रयोग करेंगे। 
शामली में हनुमान धाम को सैनेटाइज करते हुए।

सोमवार को जनपद के सभी धर्मस्थलों को खोलने के संबंध में डीएम जसजीत कौर ने कलेक्ट्रेट सभागार में धर्मगुरुओं की बैठक लीं उन्होंने सरकार द्वारा जारी की गयी गाइडलाइन की जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार से जिले के सभी धर्मस्थलों को खोला जाएगा। इस दौरान एक बार में केवल पांच लोगों को ही मंदिर में जाने की अनुमति दी जाएगी। मंदिरों के प्रवेश द्वार पर हाथों को कीटाणु रहित करने के लिए सैनेटाइजर की व्यवस्था करनी होगी एवं मंदिर स्थलों में सैनेटाइजर से छिडकाव कराया जाएगा। मंदिरों में थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था करनी होगी। जिन व्यक्तियों में कोई लक्षण नहीं दिखेगा, केवल उन्हें ही प्रवेश की अनुमति होगी। मंदिरों में आने वाले श्रद्धालुओं को फेस मास्क लगाना होगा। जूते-चप्पलों को भी अपने वाहन में ही उतारना होगा। मंदिर परिसरों के बाहर पार्किंग स्थलों पर भीड एकत्र नहीं होने दी जाएगी। प्रवेश एवं निकास की अलग-अलग व्यवस्था करनी होगी, लाइनों में सभी लोगों को कम से कम 6 फीट की दूरी बनाकर रखनी होगी। सभी मंदिरों में सोशल डिस्टेंस का भी पालन करना होगा तथा श्रद्धालुओं के खडे होने के लिए गोल घेरे बनाने होंगे। इस दौरान रिकार्ड किए गए गाने बजाने की अनुमति होगी, समूह में एकत्र होकर गाने की अनुमति नहीं मिलेगी। इस मौके पर डीएम ने सभी धर्म गुरुओं को जारी की गयी गाइडलाइन की एक-एक प्रति भी उपलब्ध करायी। उन्होंने कह कि जिस प्रकार अभी तक सभी धर्मगुरुओं ने प्रशासन का सहयोग किया है, उसी तरह आगे भी सहयोग मिलता रहेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है, इसलिए विशेष एहतियात बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने सभी धर्म गुरुओं से सरकार के निर्देशों का शत-प्रतिशत पालन करने का आहवान किया। बैठक में एसपी विनीत जायसवाल, एएसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारी व धर्म गुरु मौजूद रहे। 

इन बातो का भी रखना होगा ध्यान-
  • श्रद्धालुओं के बीच सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखना होगा।
  • एयर कंडीशनर के प्रयोग के समय तापमान 24-30 डिग्री रखना होगा।
  • प्रतिमाओं, पवित्र गं्रथों आदि को स्पर्श करने की अनुमति नहीं होगी।
  • सभाएं, मंडली निषेध रहेगी। 
  • संक्रमण के फैलाने से बचने के लिए रिकार्ड किए गए गाने बजाने की अनुमति होगी।
  • समूह में एकत्र होकर गायन की अनुमति नहीं होगी।
  • प्रार्थना सभा हेतु एक ही दरी अथवा मेट का प्रयोग करने से बचना होगा।
  • श्रद्धालुओं को अपने लिए अलग से दरी-मैट लाना होगा। 
  • धार्मिक स्थलों में प्रसाद वितरण व पवित्र जल के छिडकाव की अनुमति नहीं होगी।
  • एक दूसरे को बधाई देते समय शारीरिक दूरी का ध्यान रखना होगा। 
  • लंगर, सामुदायिक रसोई व अन्य दान आदि हेतु भोजन वितरित करने में दूरी का अनुपालन करना होगा।
  • परिसरों के अंदर हाथ पैर धोने वाले स्थानों को स्वच्छ रखना होगा।
  • धार्मिक स्थलों की सफाई व कीटाणु रहित करने के उपाय करने होंगे। 
  • परिसर के फर्श को विशेष रूप से कई बार साफ करना होगा।
  • परिसर के अंदर संदिग्ध केस मिलने की स्थिति में ऐसे व्यक्ति को अलग रखना होगा।
  • चिकित्सक द्वारा जांच परीक्षण होने तक उसे फेस मास्क कवर देना होगा। 
  • ऐसे व्यक्तियों की जानकारी जिला प्रशासन को देनी होगी। 
  • सरकार की गाइडलाइन का शत-प्रतिशत पालन करना होगा। 


No comments:

Post a comment