Breaking

Sunday, 19 July 2020

दो दिनों में 58 कोरोना संक्रमित मिलने से शामली अति संवेदनशील जिला बना



दुकानदार का चालान करता पुलिसकर्मी।

  • पूर्ण लॉक डॉउन के बावजूद भी चोरी से खोली जा रही दुकाने।
  • प्रशासन की सख्ती के बाद भी नहीं मान रहे कुछ  दुकानदार।


शामली। जनपद में लगातार कोरोना संक्रमित केस बढते जा रहे है। रविवार को पूर्ण लाॅक डाउन होने के बावजूद शहर के विभिन्न गली मौहल्लों तथा बाजारों में दुकानदारों द्वारा दुकाने खोली गई। कई दुकानदारों को पुलिस ने मौके पर पकडकर चलान भी काटे, लेकिन दर्जनों दुकानदार दिनभर गुपचुप तरीके से सामान की बिक्री करते रहे। ग्राहकों को दुकानें के अंदर बंद कर की जाने वाली खरीदारी से संक्रमण फैलने का लगातार खतरा बना हुआ है।
दुकानदार को सख्ती से समझते पुलिसकर्मी
 
पिछले दो दिनों में 58 कोरोना संक्रमित केस मिलने से जनपद शामली भी मेरठ और नोएडा की तरह अति संवेदनशील जिले में आ चुका है। जनपद में ऐक्टिव केस का आंकडा सैकडों में कूदने वाला है। जिससे इसकी भयावकता का पता चलता है। रविवार को जिलेभर में पूर्ण लाॅक डाउन घोषित किया गया था। जिसमें सवेरे 9 बजे तक दूध की दुकानों को खोले जाने की छूट दी गई थी, जबकि दवा की दुकानों को छोडकर सभी दुकानों को बंद करने के आदेश दिए गए थे, लेकिन इसके बावजूद पुलिस की शिथिलता के चलते रविवार को भी शहर के विभिन्न गली मौहल्लों तथा बाजारों में दुकानों को खोला गया। पुलिस ने कई दुकानों पर पहुंचकर दुकानों को खुला पाया तो दुकानदारों के चलान भी काटे, लेकिन शहर में दर्जभर दुकानदार गुपचुप तरीके से दुकाने खोलकर सामान की बिक्री करते रहे। जिसमें शहर के बुढाना रोड, नौकुआ, कलंदरशाह, पंसारिसान, सब्जी मंडी, रेलवे रोड, माजरा रोड आदि स्थानों पर दुकानों को खोला गया। कई स्थानों पर दुकानों को शटर बंद कर ग्राहकों को दुकान के अंदर लिया गया था, जिससे खरीदारी के दौरान संक्रमण फैलने का खतरा भी बना हुआ है।

No comments:

Post a comment