Breaking

Tuesday, 28 July 2020

महामारी में किसी को खुश करने से पहले अपने बारे में सोचें, किसी का प्यार-सम्मान पाने के लिए कुछ भी करना जरूरी नहीं

एना गोल्डफार्ब. कोरोनावायरस के बाद जब से अनलॉक का दौर शुरू हुआ है, तब से लोग किसी कार्यक्रम में मेहमानों को बुलाने को लेकर दबाव महसूस कर रहे हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, इनविटेशन के लिए मना करना और अपने आराम के आसपास बाउंड्री बनाना लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर रहा है। खासतौर से उन लोगों के लिए जो हमेशा लोगों को खुश करना चाहते हैं।

लेखिका, पोडकास्टर और सेल्फ हेल्प ब्लॉग बैगेज रि-क्लेम की फाउंडर नताली ल्यू कहती हैं कि "जब हम हमारे एक्शन्स के पीछे के 'क्यों' को लेकर ईमानदार हो जाते हैं, तब हमें पता चलता है कि यह स्वास्थ्य के लिए कितना नुकसान देने वाला है।" उन्होंने कहा "क्यों, का मतलब यह हो सकता है कि हम यह कंट्रोल करना चाहते हैं कि लोग हमें कैसे समझेंगे, हम कुछ रिटर्न की उम्मीद करते हैं या हम डर महसूस करते हैं।"

साइकोलॉजिस्ट मॉर्गन मैकेन के मुताबिक, कोई भी जन्म से ही लोगों को खुश करने वाला नहीं होता है। यह एक सामना करने का तरीका है जो हम समय के साथ सीखते हैं। शायद यह व्यवहार जीने की रणनीति के तौर पर अपनाया गया था। शिपन्सबर्ग यूनिवर्सिटी में साइकोलॉजी प्रोफेस तोरू सातो ने कहा कि "दूसरों के प्रति दयालु होने में कुछ भी गलत नहीं है। मुद्दा यह कि क्या हम यह आत्मप्रेम या आत्मसम्मान की कमी होने पर मुआवजे के तौर पर कर रहे हैं या केवल मेहरबानी में।"

डिप्रेशन का खतरा
जहां एक व्यक्ति अपनी संतुष्टि के लिए दूसरों पर काफी ज्यादा निर्भर होता है। इसे सोशल साइकोलॉजिस्ट सोशियोट्रोपी कहते हैं। स्टडीज बताती हैं कि जो लोग सोशियोट्रोपी का प्रदर्शन करते हैं, उन पर डिप्रेशन का शिकार होने का जोखिम ज्यादा होता है।

जब लोगों को खुश करने वाले लोग ऐसे काम के लिए तैयार हो जाते हैं जो वे नहीं करना चाहते, तो उनके लिए ऐसे पैटर्न तोड़ना डरावना हो जाता है। जबकि यह जांचने लायक है। इस तरह की आदत को चुनौती देने से आपको अपने लिए वक्त, स्वास्थ्य की सुरक्षा और रिश्तों को मजबूत बनाने का मौका मिलेगा।

पहचानें कि आप पहले ही काफी अच्छे हैं

  • लोगों को खुश करने वाले लोगों को पहले अपने साथ ही रिश्ते को नई दिशा देने की जरूरत है। डॉक्टर सातो ने कहा "आप प्यारे हैं और जैसे हैं आप केयर करने लायक हैं। आपको प्यार के लायक बनने के लिए कुछ करने या किसी के लिए कुछ होने की जरूरत नहीं है।"
  • अपने क्लाइंट्स को उनकी कीमत बताने के लिए साइको थैरेपिस्ट अकीरा पीटरकिन कई बार उनसे कहती हैं कि वे हीरे हैं और सभी उन्हें नहीं खरीद सकते। उन्होंने कहा "लोगों को आपकी योग्यता कमाने की जरूरत है। आपकी दुकान पर आए हुए हर एक ग्राहक को हीरा नहीं बेचना ठीक है।"

ज्यादा सच्चे रहने का वादा करें

  • लोगों को खुश करना आखिरकार एक धोखा है। ल्यू ने कहा कि लोगों को खुश रखने वाले लोग न केवल अपनी जरूरतों और एहसासों को मुखौटा देते हैं, बल्कि वे खुद से और दूसरों से झूठ भी बोल रहे हैं। यह झूठ करीबी रिश्तों की सच्चाई को नुकसान पहुंचाता है।
  • ल्यू हमें हमारे डर को हटाने और पारदर्शी बनने की सलाह देती हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह से हम चिंता और तनाव को कम करेंगे और खुद के जीवन का मजा लेंगे।

अपने शरीर की सुनें

  • अकीरा सलाह देती हैं कि जब भी आपको कोई इनविटेशन मिले तो अपने शरीर की प्रतिक्रियाओं को देखें। अगर आपका शरीर थका हुआ है तो मना कर दें और आराम करें। उन लोगों के इनविटेशन को प्राथमिकताएं देने की कोशिश करें जो आपको समान प्यार और सम्मान देते हैं। अकीरा ने कहा कि हमें उन लोगों में ज्यादा इनवेस्ट करना चाहिए, जिन्होंने हम पर इनवेस्ट किया है।

यह मान लें कि आप लोगों को निराश कर सकते हैं

  • ल्यू ने कहा "एक आदर्श दुनिया में लोगों को यह पता होगा कि क्या काम नहीं करेगा और पूछते भी नहीं है, लेकिन ऐसा असल जीवन में नहीं है।" उन्होंने कहा कि जब आप खुद को मुखर करते हैं और इनविटेशन लेना बंद कर देते हैं तो आपको झटका लग सकता है। क्योंकि आपको मिलने वाले निगेटिव रिएक्शंस से आपके कई रिश्तों की सच्चाई सामने आएगी।
  • उन्होंने कहा "अगर आपके ना कह देने के कारण कोई इसे आपके साथ खोता है, तो यह संकेत है कि आपकी 'ना' बहुत जरूरी थी।" डॉक्टर मैकेन ने कहा लोगों को खुश करने वालों को यह पता होना चाहिए "हम ना ही इसे कंट्रोल कर सकते हैं कि लोग क्या महसूस करेंगे और ना ही हम दूसरे के एहसासों के लिए जिम्मेदार हैं।" उन्होंने कहा कि इसे मानना भविष्य में लोगों को खुश करने की आपकी आदत को कम करेगा।

प्यार से मना करें
ल्यू किसी इनविटेशन को मना करने के लिए इन प्रतिक्रियाओं की सलाह देती हैं। अगर आप नर्वस हैं तो प्रतिक्रियाओं की पहले से तैयारी कर लें और प्रैक्टिस कर लें।

  • मैं नहीं आ सकूंगी, लेकिन इनवाइट करने के लिए शुक्रिया।
  • इनविटेशन के लिए धन्यवाद, लेकिन मैं अभी समारोह में शामिल होने के लिए तैयार नहीं हूं। भविष्य में इसके आयोजन के बारे में क्या ख्याल है।
  • मैं जानता हूं कि मैं आमतौर पर आपके इनविटेशन को हां कर देता हूं, लेकिन इस मौके पर मैं ऐसा नहीं कर पाउंगा।
  • मुझे पता है आप निराश हैं, लेकिन मैं शामिल होने में असहज हूं। मैं जानता हूं कि सभी लोग सामान्य माहौल पाने के लिए जल्दी में हैं, लेकिन मुझे यह काफी जल्दी लग रहा है।

मान लें कि आप तरक्की कर रहे हैं

  • आप लोगों को खुश करने की आदत को एक दिन, हफ्ते या महीनों में नहीं मिटा सकते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आपको हार मान लेनी चाहिए। ज्यादा सच्चा जीवन जीने की कोशिश करें। यदि आप लगातार खुद से पहले दूसरों की जरूरतों को आगे रखने को लेकर संघर्ष कर रहे हैं तो मेडिकल एक्सपर्ट से बात करें।
  • डॉक्टर मैकेन ने कहा "आप जितना ना कहने की प्रैक्टिस करेंगे, यह उतना आसान बन जाएगा। अपने साथ सौम्य रहें, क्योंकि आप इसकी कोशिश कर रहे हैं और आप इसके फायदे भी देखेंगे।"

Before you make someone happy in an epidemic, think about yourself, it is not necessary to do something to get someone's love and respect

from Dainik Bhaskar
via-India Today Live

Disclaimer:This story is auto-aggregated by a computer program and has been created or edited by India Today Live. Publisher:Dainik Bhaskar

No comments:

Post a comment