Breaking

Wednesday, 19 August 2020

झमाझम बारिश ने जहा लोगो को गर्मी से दी राहत वहीं दुकानदारों के लिए बनी आफत

भारी बारिश में भी अपने काम को सड़कों पर निकले लोग।

  • बारिश ने लोगो को दिलाई भारी गर्मी से भी राहत।
  • शहर के कई इलाकों में भरा बारिश का पानी।
  • व्यापारियों को दुकानों में पानी भरने से बचाने को करनी पड़ी भारी मशक्कत।
  • राहगीरों को भारी जलभराव से गुजरना पड़ा।
  • जलभराव होने से गडढे दिखाई ने देने पर गिरकर चोटिल हुए राहगीर।

शामली। बुधवार सवेरे से जारी झमाझम बारिश लोगो को गर्मी से भरी निजात दिलाई वहीं पूरा शहर जलमग्न नजर आया। गली मोहल्ले, बाजार पानी से लबालब हो गए। व्यापारी अपनी दुकानों में पानी भरने से बचाने की मशक्कत करते रहे। बारिश में भीगे राहगीरों को भी जलभराव से गुजरना पड़ा। कई स्थानों पर हुए जलभराव से लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पडा। कई वाहन चालक को जलभराव होने से सडक में बने गडढे दिखाई ने देने से भी गिरकर चोटिल होते हुए देखा गया है। इसके अलावा लगातार हो रही मूशलाधार बारिश ने उसम भरी गर्मी से भी निजात दिलाई है।

पिछले कई दिनों से उसम भरी गर्मी और तेज धूप ने लोगों का जीना मुहाल कर रखा था। आसमान में काले बादल तो आते थे, लेकिन लुक्का छुप्पी खेलने के साथ ही चले जाते थे। बारिश न होने से लोगों का गर्मी से हाल बेहाल था। गत मंगलवार शाम आई बूंदाबांदी के बाद उमस भरी गर्मी से हालत खराब रही, लेकिन बुधवार सवेरे आसमान में छाए काले बादल छाए और आसमान से ठंडी हवाए चलने लगी। सवेरे 6 बजे से शुरू हुई झमाझम बारिश दिनभर जारी रही। झमाझम बारिश होने से जहां मौसम ठंडा हो गया और लोगों को गर्मी से निजात मिल सकी। इसके अलावा लगातार हो रही बारिश ने नगर पालिका के विकास कार्यो की भी पोल खोलकर रख दी। शहर के फव्वारा चैक, कबाडी बाजार, गांधी चैक, हनुमान रोड, मिल रोड, वीवी इंटर कालेज रोड, तालाब रोड, नेहरू मार्किट, भिक्की मोड, बैंठ मार्किट, मौहल्ला बडीआल, धीमानपुरा, माजरा रोड, पंसारियान, कलंदरशाह, दयानंदनगर आदि स्थानों पर जलभराव की स्थिति पैदा हो गई।वहीं भारी बारिश में भी व्यापारी अपनी दुकानों पर पहुंचे और अपनी दुकानों में पानी भरने से बचाने के लिए मशक्कत करते रहे, जबकि कई गली मौहल्लों में पानी भरने से पानी लोगों के घरों तक में चला गया। बारिश में भीगे राहगीरों को भी जलभराव से गुजरना पड़ा।

शहर के मौहल्ल कलंदरशाह, पंसारियान में हुए जलभराव के कारण आने जाने तक का रास्ता बंद हो गया। नई बस्ती में जाने वाले लोग घुटनों तक हुए जलभराव से होकर गुजरे। कई छोटे बच्चे सडक में बने गडढे पानी के अंदर दिखाई न दिए जाने से गिरकर चोटिल भी हुए है


कबाड़ी बाजार।

शहर के कबाडी बाजार की बात करते तो कबाडी बाजार में सवेरे 6 बजे से ही जलभराव हो गया था। जब तक दुकानदार दुकान खोलने के लिए पहुंचे तो कई दुकानों में पानी भर गया था और वह दिनभर पानी को दुकान से बाहर निकालते नजर आये। इस दौरान कई बाईक चालक पानी के बीच फंस जाने से पैदल जाते देखे गए।

नेहरू मार्केट

 शहर की नेहरू मार्किट में घुटनों तक पानी भरा हुआ था। मार्किट के मंडी, हनुमान धाम, शुगर मिल रोड, एमएसके रोड से आने वाले सभी रास्ते पूरी तरह जलमग्न थे। सुबह आठ बजे व्यापारी बाजार में पहुंचने शुरू हुए तो दुकानों के चबूतरों तक पानी था। इसके बाद व्यापारी बाल्टियां लाकर पानी निकालने में जुट गए। रवि अरोरा, अमित गर्ग आदि ने बताया कि हर साल बारिश में यही हाल होता है। दुकानों में पानी घुसता है लेकिन पालिका कोई ध्यान नहीं देती।

भिक्की मोड़।

शहर के भिक्की मोड़ से बैंड मार्किट, मौहल्ला बडीआल में जाने वाली पूरी सड़क पर जलभराव था। यहां कई लोगों के दुपहिया वाहन पानी में फंस कर रुक गए। कई वाहन पानी के बीच में फंसकर बंद हो गए, जबकि कई दुकानों में भी पानी भरने से लोगों को काफी दिक्कते हुई। इसके अलावा बराबद में स्थित गंदे नाले का पानी भी सडकों पर फैलने से काफी परेशानियों का सामना करना पडा।

.........

शहर के भिक्की मोड़ तिराहे से माजरा रोड पर टेलीफोन एक्सचेंज मोड़ तक पूरी सड़क पानी से लबालब थी। इसी बीच रोड पर पड़ने वाले दुकानदार दुकानों पर बैठे बारिश रूकने का इंतजार करते रहे। दोपहर 2 बजे तक जारी मूशलाधार बारिश के कारण कई दुकानों पर बैठे रहे, जबकि साइकिल और पैदल आने वाले लोग घुटनों तक पानी भरा देख आगे जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाये।


No comments:

Post a comment