Breaking

Friday, 4 September 2020

19 शहरों में खोली गई 3516 प्रधानमंत्री आवास योजना के घरों के लिए बुकिंग, जानिए कैसे करे आवेदन


प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan Mantri Awas Yojana) (प्रधानमंत्री आवास योजना): प्रधानमंत्री आवास योजना का उद्देश्य देश में कमजोर आय वाले समूहों को शहरी या ग्रामीण क्षेत्रों में घर उपलब्ध कराना है।


प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan Mantri Awas Yojana) (प्रधानमंत्री आवास योजना): प्रधानमंत्री आवास योजना का उद्देश्य देश में कमजोर आय वाले समूहों को शहरी या ग्रामीण क्षेत्रों में घर उपलब्ध कराना है। इस योजना के तहत, सीएलएसएस या क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी पहली बार घर खरीदारों को दी जाती है। यानी घर खरीदने के लिए होम लोन पर ब्याज सब्सिडी मिलती है। केंद्र सरकार ने पीएम आवास योजना के तहत क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना को 31 मार्च 2021 तक बढ़ा दिया है। इससे 2.50 लाख से अधिक मध्यम वर्ग के परिवारों को लाभ मिलेगा। यह केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित योजना है, जिसे 25 जून 2015 को लॉन्च किया गया था।

बुकिंग आज से शुरू हो रही है उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद ने आज से 1 सितंबर यानी आज से राज्य के 19 शहरों में 3516 प्रधानमंत्री आवास योजना के घरों के लिए बुकिंग खोल दी है। लोग उन्हें 1 सितंबर से बुक कर पाएंगे। गरीबों को यह घर केवल रु 3.50 लाख में मिलेगा। इसके तहत कुल 3516 घरों को बुक किया जाएगा। लखनऊ में अधिकतम 816 घरों के लिए बुकिंग खोली गई है। इस योजना के तहत, घर खरीदने के इच्छुक लोग 15 अक्टूबर तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
ये स्थितियां हैं इस बुकिंग के तहत, केवल उन्हीं घरों को दिया जाएगा, जिनकी वार्षिक आय 3 लाख रुपये से कम होगी। राज्य के गरीब लोगों को केवल 3.50 लाख रुपये में मकान मिलेंगे। उन्हें यह राशि 3 साल में लौटानी होगी। इससे पहले यूपी हाउसिंग डिक्लेरेशन काउंसिल ने 5 साल की किस्त पर घर देने का प्रस्ताव रखा था, लेकिन इसे घटाकर 3 साल कर दिया गया है। इस योजना के तहत, गरीब लोगों के लिए उपलब्ध घर का कारपेट एरिया 22.77 वर्गमीटर और सुपर एरिया 34.07 वर्गमीटर होगा।
इन जिलों में घर मिल जाएंगे पीएम आवास योजना के तहत, अधिक से अधिक लोगों को यूपी की राजधानी लखनऊ में मकान आवंटित किए जाएंगे। 816 घरों की अधिकतम बुकिंग लखनऊ में होगी। इसके अलावा गाजियाबाद में 624 मकान, मेरठ में जागृति विहार में 480 और गोंडा में 396 मकान बुक होंगे। राज्य के मैनपुरी, फतेहपुर, हरदोई, रायबरेली और मेरठ में 96-96 घरों के लिए पंजीकरण किया जाएगा। इनके अलावा, कानपुर देहात, कन्नौज, उन्नाव, बहराइच, मऊ, बलरामपुर, कानपुर देहात, कन्नौज, उन्नाव, बहराइच, मऊ, बलरामपुर और बाराबंकी में 48-48 घरों के लिए बुकिंग की जाएगी।
आवेदन कैसे करें इस योजना का लाभ उठाने के लिए, पहले PMAY की आधिकारिक वेबसाइट https://pmaymis.gov.in/ पर लॉग इन करें। यदि आप LIG, MIG या EWS श्रेणी में आते हैं, तो अन्य 3 घटकों पर क्लिक करें। यहां पहले कॉलम में आधार नंबर दर्ज करें। आधार में लिखा हुआ अपना नाम दूसरे कॉलम में दर्ज करें। इसके बाद, आपको खुलने वाले पेज पर अपना पूरा व्यक्तिगत विवरण देना होगा, जैसे कि नाम, पता, परिवार के सदस्यों के बारे में जानकारी। इसके साथ, नीचे एक बॉक्स पर क्लिक करें, जिस पर लिखा होगा कि आप इस जानकारी की शुद्धता को प्रमाणित करते हैं। एक बार जब आपने सारी जानकारी भर दी और सबमिट कर दी जाएगी, तो आपको यहां कैप्चा कोड दर्ज करना होगा। इसके बाद आप इस फॉर्म को सबमिट करें। आवेदन पत्र की फीस 100 रुपये है। वहीं, रजिस्टर करने के लिए 5000 रुपये बैंक में जमा करने होंगे।

No comments:

Post a comment